कौने है सतोशी नाकामोतो ? बिटकॉइन कब बना? बिटकॉइन को किसने बनाया ?

कौने है सतोशी नाकामोतो ? बिटकॉइन कब बना? बिटकॉइन को किसने बनाया ?

    कौने है सतोशी नाकामोतो ? बिटकॉइन कब बना? बिटकॉइन को किसने बनाया ?

    2009, सतोशी नाकामोतो  ने बिटकॉइन को 2009 में बनाया।
    सातोशी नाकामोतो अज्ञात व्यक्ति या उन लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला नाम है जिन्होंने बिटकॉइन को डिजाइन किया और इसका मूल संदर्भ कार्यान्वयन बनाया।  जनवरी 2009 में बिटकॉइन के पहली बार जारी होने के बाद से नाकामोटो एक विवादास्पद व्यक्ति रहा है। सतोशी नाकामोटो की वास्तविक पहचान अज्ञात है, हालांकि व्यक्ति की पहचान के बारे में कई अटकलें हैं।  बिटकॉइन के शुरुआती दिनों में, नाकामोटो ने विशेष रूप से मंचों और निजी ईमेल के माध्यम से संचार किया।  उन्होंने जल्द ही अन्य डेवलपर्स और समुदाय के सदस्यों से सभी संचार काट दिया। 

    क्रिप्टो करेंसी का आविष्कार किसने किया था?
    उसके बारे में एकमात्र जानकारी क्रिप्टो करेंसी या बिटकॉइन श्वेत पत्र में उपलब्ध है, एक अकादमिक पेपर जो बिटकॉइन की मूल अवधारणाओं का वर्णन करता है।

    Bitcoin kya है जानें

    सतोशी नाकामोतो का p2p foundation website क्या है ?

    p2p foundation website एक ऐशी website है जिसमे crypto currency की पहली update Satoshi nakamota की ओर से मिली थी। दुनिया सतोशी नाकामोतो के बारे में कुछ नहीं जानती है । आइडेंटिटी की ओर से उनके पास सिर्फ p2p फाउंडेशन नाम की वेबसाइट है ।

    सतोशी नाकामोतो की आइडेंटिटी पता क्यों नहीं है ?
    माल ले दोस्तों की दोस्ती  सतोशी नाकामोतो जापानी व्यक्ति है। जो नाम से थोड़ा मेल खाता है । तो Bitcoin को क्या यूएसए एक्सेप्ट करेगा? या सतोशी नाकामोतो फिर किसी और भी देश के होते हैं तो कई ऐसे देश आपसी मतभेद के कारण बिटकॉइन के इस्तेमाल पर रोक लगा देता । जिसके कारण हो सकता है कि सतोशी बिटकॉइन का चलन ना हो। शायद इसी कारण  सतोशी नाकामोतो ने अपनी आईडी छुपाई है ।

    सतोशी नाकामोतो p2p फाउंडेशन की वेबसाइट

    दोस्तों यदि हम  सतोशी नाकामोतो की बात करें । तो सिर्फ एक ही चीज है जो Bitcoin के बारे मे हमे बताती है वह p2p फाउंडेशन की वेबसाइट है। इस वेबसाइट पर ही पहली बार सतोशी नाकामोतो ने दुनिया के सामने बिटकॉइन को इंट्रोड्यूस किया था । इस वेबसाइट पर एक वाइट पेपर है । जिस पर सतोशी नाकामोतो का नाम है । P2p फाउंडेशन वाइट पेज पर ही सतोशी नाकामोतो ने बिटकॉइन के सभी फीचर्स को दुनिया के सामने रखा ।

    इस सभी फीचर्स को दुनिया ने p2p फाउंडेशन वेबसाइट पर पड़ा तथा बिटकॉइन को समझा। सतोशी नाकामोतो की आईडेंटिटी की तौर पर सिर्फ यही वेबसाइट इंटरनेट पर उपलब्ध है । आज कोई नहीं जानता है कि सतोशी नाकामोतो कौन है ? इसी फायदे को उठाने के लिए कई लोगों ने समय-समय पर अपने आप को सतोशी नाकामोतो बताया है।

    दोस्तों यदि  सतोशी नाकामोतो की आइडेंटिटी अभी साबित भी हो जाए तो अभी कुछ खास प्रभाव बिटकॉइन पर नहीं पड़ेगा। क्योंकि आज बिटकॉइन करेंसी विश्व के कई देशों में एक्सेप्ट हो चुकी है । जिसके कारण इसका रुकना ना के बराबर है।

    नवंबर 2018 , सतोशी नाकामोतो का दूसरा पोस्ट –

    कौने है सतोशी नाकामोतो ? बिटकॉइन कब बना? बिटकॉइन को किसने बनाया ?

    इस दिन उसी प्रोफाइल पर 10 सालों के बाद दोबारा दो पोस्ट हुए पहला जो पोस्ट था । उस पर पोस्ट किया गया था। “Nour ” इस पोस्ट के बारे में काफी हलचल होने लगी है इंटरनेट पर काफी व्यंग कहे गए इस पोस्ट के विषय में ।

    दूसरा पोस्ट में सतोशी नाकामोतो ने अपने फ्रेंड का रिक्वेस्ट एक्सेप्ट किया ।  जिसका नाम था वह  वेगनर तपाहा ।

    सातोशी नाकोमोटो की मूर्ति statue of Satoshi nakamota

    बिटकॉइन के गुमनाम निर्माता सतोशी नाकामोतो की प्रतिमा को जापान के टोक्यो में स्विट्जरलैंड के दूतावास के सामने रखा गया था।  प्रतिमा तांबे के स्पर्श और 1 टन वजन के साथ सोने और चांदी से बनी है।  यह 60 सेंटीमीटर की चौड़ाई और लंबाई के साथ 20 सेंटीमीटर लंबा है।  मूर्तिकला एक जापानी कलाकार सामूहिक द्वारा बनाई गई थी।

    1970 के दशक की शुरुआत में, जापानी पत्रिका, शोसी क्यूकाई ने सातोशी नाकामोटो नामक एक लेखक के लेखों की एक श्रृंखला प्रकाशित की, जिसमें यह सुझाव दिया गया कि बिटकॉइन के निर्माण के पीछे का विचार जापान में मुद्रास्फीति का मुकाबला करना था।  माना जाता है कि गुमनाम लेखक ने बिटकॉइन का आविष्कार किया था।  निर्माता के बारे में अफवाह है कि वह जापान में रहने वाले एक बुजुर्ग सज्जन नाकामोतो हैं।  निर्माता, सतोशी नाकामोतो, अब जापान में रहता है और गुमनाम रहना पसंद करता है।

    सतोशी नाकामोतो

    सतोशी नाकामोतो ने बिटकॉइन बनाकर दुनिया को एक नई फाइनेंसियल हेल्प कर दी । क्रिप्टो करेंसी की मदद से आज  इंटरनेशनल करेंसी की समस्या लगभग दूर हो चुकी है । यह सभी चीज सिर्फ सतोशी नाकामोतो के कारण हो पाया है।

    Leave a Comment